logo jaindharmonline.com

  होम

 जैन धर्म 

 तीर्थकरों 

 जैन साहित्य     

जैन आचार्य

जैन पर्व

 जैन तीर्थ

  होम(Home) >  
  जैन तीर्थ(Jain Tirth) >

 
  
 

 


 

 


 

 

 

 

 


 

   जैन तीर्थ (Jain Tirth )
 
  बिहार प्रान्त  (Bihar) 
 
  पावापुरी सिद्ध क्षेत्र   
   पावापुरी सिद्ध क्षेत्र - बिहारशरीफ स्टेशन से 12 मील | ; नवादा से मोटर भी जाती है | यहाँ से महावीर स्वामी कार्तिक कृष्णा अमावस्या को मोक्ष गए | यहाँ का जल मन्दिर दर्शनीय है |   उसी में भगवान के चरण चिह्न स्थित है |
    
      Pawapur Jain Temple
  कुण्डलपुर  
   कुण्डलपुर - राजगृही के पास नालंदा स्टेशन से 2 मील | यह भगवान महावीर का  जन्म स्थान माना जाता है |
     
            Kundalpur jain temple
 चम्पापुर - मंदारगिरि सिद्ध क्षेत्र 
  चम्पापुर - मंदारगिरि सिद्ध क्षेत्र - भागलपुर स्टेशन के निकट | वासुपूज्य स्वामी की पांचों कल्याणकों की स्थलियां यहीं हैं |
  राजगृही 
   राजगृही - राजगिरि कुण्ड से 4 मील अथवा बिहारशरीफ से 24 मील | यह राजा श्रेणिक की   राजधानी थी | यहाँ विपुलाचल, सुवर्णगिरि, रत्नागिरि, उदयगिरि, वैभारगिरि, ये पांच पहाड़ियाँ प्रसिद्ध हैं | इन   पर  23 तीर्थंकरों के समवशरण   आये   थे तथा   कई   मुनि मोक्ष   भी   गए हैं | (केवल भगवान  वासुपूज्य का समवशरण नहीं आया था) |
  पटना
 पटना -   पटना   सिटी    में    गुलजार    बाग    स्टेशन   के पास एक छोटी सी  टेकरी पर चरण पादुकाएँ स्थापित हैं | यहाँ से सेठ सुर्दशन ने मुक्ति लाभ  किया था |  
  गुणावा 
 गुणावा -  पटना   जिले    के    नवादा    स्टेशन    से   डेढ़   मील | यहाँ से गौतम स्वामी मोक्ष गए हैं |
                                                                                                    

                                                                        (Hindi Version)

                                          Site copyright ã 2004, jaindharmonline.com All Rights Reserved