logo jaindharmonline.com

  होम

 जैन धर्म 

 तीर्थकरों 

 जैन साहित्य     

जैन आचार्य

जैन पर्व

 जैन तीर्थ

  होम(Home) >  
  जैन तीर्थ(Jain Tirth) >

 
     
 

 


 

 

   जैन तीर्थ (Jain Tirth )
    उड़ीसा प्रान्त (Orissa)
  खण्डगिरि  
 

  खण्डगिरि -   भुवनेश्वर स्टेशन से 4 मील पर खण्डगिरि और उदयगिरि नाम की दो पहाड़ियाँ हैं | यहीं से कलिंग देश के राजा जसरथ के 500 पुत्र मुनि बनकर मोक्ष गए हैं | यहां पर हाथीगुफा में ई.पू. दूसरी शताब्दि का शिला लेख हैं जो णमोकार मंत्र से आरंभ होता है और भारत वर्ष के प्रथम सम्राट जिनधर्मी राजा खरबेल के शासन काल की प्रशस्ति को अमिट बनाये हुए हैं | 

       Ranigupha in Khandgiri, Orissa
         हाथीगुफा - खण्डगिरि
                                                                                                            

                                                                        (Hindi Version)

                                          Site copyright ã 2004, jaindharmonline.com All Rights Reserved