logo jaindharmonline.com

  होम

 जैन धर्म 

 तीर्थकरों 

 जैन साहित्य     

जैन आचार्य

जैन पर्व

 जैन तीर्थ

  होम(Home) >  
  जैन तीर्थ(Jain Tirth) >

 
  
 

 


 

 


 

 

 

 

 


 

   जैन तीर्थ (Jain Tirth )
 
महाराष्ट्र (Maharastra)
 

   अन्तरिक्ष पार्श्वनाथ 
   सैन्ट्रल रेलवे के अकोला (बरार) स्टेशन से लगभग 40 मील पर शिरपुर का गाँव है | गाँव के मध्य धर्मशालाओं के बीच में एक बहुत बड़ा प्राचीन विशाल दुमंजिला जैन मन्दिर है | नीचे की मंजिल में एक श्यामवर्ण 211  फुट ऊँची पार्श्वनाथ जी की प्राचीन प्रतिमा है | जो वेदी के ऊपर अधर में विराजमान हैं |

   गजपन्था  
 नासिकरोड   स्टेशन से 9 मील म्हसरुल ग्राम के पास | यहाँ से बलभद्र आदि आठ करोड़ मुनि मोक्ष गए हैं | 

  मांगीतुंगी 
  मनमाड़ स्टेशन से 7  मील पर घने जंगल में पहाड़ पर यह क्षेत्र है | यहाँ से रामचन्द्र, सुग्रीव, गवय, गवाक्ष, नील आदि 99 करोड़ मुनि मोक्ष गए हैं | 

   रामटेक  
  यह स्थान नागपुर से 24 मील पर है | यहां दिगम्बर जैनों के दस मन्दिर हैं, जिनमें से एक प्राचीन मंदिर में सोलहवें तीर्थंकर श्री शान्तिनाथ भगवान की 15 फीट ऊँची मनोज्ञ प्रतिमा हैं |

  कुंथलगिरि  
  वार्सी टाउन रेलवे स्टेशन से 21 मील दूर पर | यहाँ 18 मन्दिर हैं | यहाँ से देशभूषण, कुलभूषण मुनि मोक्ष गये हैं |

                                                                                                    

                                                                        (Hindi Version)

                                          Site copyright ã 2004, jaindharmonline.com All Rights Reserved